Search This Blog

Loading...

Wednesday, 10 August 2011

गण्डमूल नक्षत्रों चरणानुसार फल


गण्डमूल नक्षत्रों चरणानुसार फल

चरणअश्विनीऽश्लेषामघाज्येष्ठामूलरेवती
प्रथमपिता कष्टराज्य प्राप्तिमाता कष्टज्येष्ठ भ्राता नाशपिता नाशराज्य प्राप्ति
दूसराशुभधन नाशपिता कष्टछोटा भाई नाशमाता नाशमन्त्री पद
तीसराशुभमाता नाशसुखमाता नाशधन क्षयसुख सम्पत्ति
चौथाशुभपिता नाशधन प्राप्तिस्वयं नाशशुभस्वयं कष्ट
उपरोक्त मूल नक्षत्रों की 60 घटी मानकर मूल नक्षत्रों एक वृक्ष की उपमा दी गैई है। उसकी घटियों के अनुसार वृक्ष के विभाग किये हैं। बच्चे का जन्म जिस विभाग में हो उसी अनुसार फल ग्रहण करें। जैसे-किसी बच्चे का जन्म 18 घटी पर हुआ तो प्रथम 7 घटी मूल की, अगली 8 घटी स्तंभ की, उससे अगली 10 घटी छाल की, तो बच्चे का जन्म छाल हुआ जानें।

No comments:

Post a Comment