Search This Blog

Tuesday, 12 July 2011

अमोघ राम रक्षा मन्त्र !

सभी प्रकार की बाधाओं तथा मुश्किलों से मुक्ति प्राप्त करने का अमोघ राम रक्षा मन्त्र ! PDF Print E-mail


कभी कभी इन्सान जीवन में इतना दुर्बल हो जाता है कि उसे सूझता ही नहीं की क्या किया जाय !
अगर आप किसी मुश्किल में फंसे हैं तथा कोई उपाय काम नहीं कर रहा ! किसी शत्रु का भय सता रहा हो या लड़ाई झगडे का डर हो ! असाधारण रूप से आप भय का अनुभव कर रहे हों ! फैसले की घडी हो और आपको डर हो कि आप मुसीबत में फंस जायेंगे ! अगर आपका कसूर न होते हुए भी आप को कोई नुक्सान होने का डर हो ! मुसीबतें चारों और हों और आप अकेले असहाय ! ऐसी दशा में श्री राम रक्षा स्त्रोत एक अमोघ अस्त्र सिद्ध होता है ! आप माने या ना माने परन्तु इस कलयुग में इस से बड़ा कोई भी ऐसा उपाय नहीं है जिससे आप तत्काल भय से मुक्त हो जाएँ ! जिसने भी इस मन्त्र को आजमा कर देखा इस के प्रभाव से वह तत्काल ही भयमुक्त हो गया ! डाक्टर, वकील, मनोवैज्ञानिक, साइंटिस्ट, बुद्धिजीवी तथा विभिन्न धर्मों के लोगों ने इस मन्त्र को आजमा कर देखा है तथा अभयदान पाया है !
इस अति विलक्षण मन्त्र से रक्षा कवच का एक ऐसा आवरण शरीर के आस पास उत्पन्न हो जाता है जिसे भेद पाना असंभव है ! अर्थात हर हाल में साधक को विजय प्राप्त होती है ! मैंने स्वयं इस मन्त्र की शक्ति को देखा है !

परन्तु यह मन्त्र बहुत बड़ा होने के कारण हर कोई इसे ज्यादा समय तक पढ़ नहीं सकता विशेषकर तब जबकि वह कम पढ़ा लिखा हो ! ऐसी दशा में क्या किया जाए ?
उपाय यह है की या तो आप इसे सुन सकते हैं Raam Raksha Stotra Video या फिर आप नीचे लिखे मन्त्र का प्रयोग कर सकते हैं

श्री राम राम रघुनन्दन राम राम
श्री राम  राम भरताग्रज राम राम
श्री राम  राम  रणकर्कश राम राम
श्री राम  राम  शरणम् भाव राम राम

इस मन्त्र का अर्थ केवल इतना है की हे राम मैं आपकी शरण में हूँ अब मेरी रक्षा आप ही कर सकते हैं इस मन्त्र में राम राम १६ बार आया है इसे ध्यान में रखें !

आप बस इस मन्त्र का मन में जितना हो सके पाठ करते रहें ! ये मन्त्र राम रक्षा स्तोत्र का अति महत्वपूर्ण मन्त्र है इस में भगवान् के नामो का षोडशोपचार (१६ तरह से) पूजन हो जाता है !

No comments:

Post a Comment