Search This Blog

Tuesday, 12 July 2011

इत्तेफाक, संयोग और राहू



E-mail
कुछ लोगों के जीवन में कुछ ऐसी घटनाएं घाट जाती हैं जिनकी उनको उम्मीद भी नहीं होती या फिर जिनकी अपेक्षा की जाए और वही हो जाए तो उसे इत्तेफाक का नाम दिया जाता है ! उदाहरण के लिए एक घटना का उल्लेख किया जा रहा है !


एक व्यक्ति की गाड़ी छूट गई और बाद में उसे पता चला की जिस गाड़ी में वो जाने वाला था उसका एक्सिडेंट हो गया है ! यह एक संयोग ही था !
अचानक लाटरी लग जाना, कही से कुछ मिल जाना, कुछ खो जाना, अचानक चोट, अचानक किसी व्यक्ति से कुलाकात और फिर शादी, अचानक होने वाले सभी अच्छे बुरे काम राहू के प्रभाव से आते हैं !

अगर आपका जीवन आकस्मिकता या संयोग से भरा है तो समझ लीजिये की यह सब राहू की वजह से हो रहा है परन्तु संयोग अगर अच्छे हों तो ठीक वरना जीवन में विषाद उत्पन्न हो जाता है जिससे बचने के लिए कुछ उपाय भी हैं !

१. भूरे रंग का कुत्ता पालें व उसे रोज़ अपने भोजन में से कुछ हिस्सा अवश्य दें !

२. शनिवार को भैरव के मंदिर में शराब का दीपक जलाएं या शराब चढ़ावे में  दें !

३. सफाई कर्मचारी को हर बुधवार को मसूर की दाल दान व कुछ पैसे भी दान में दें !

४. अपने शहर के सड़क गली या रास्ते में पड़े पत्थर या गड्ढे साफ़ करवाएं आपके जीवन से भी रुकावटें दूर हो जायेंगी !

५. किसी भी तरह का नशा न करने से राहू का अशुभ प्रभाव कम हो जाता है !

No comments:

Post a Comment