Search This Blog

Wednesday, 13 July 2011

विघ्न बाधा से बचने के लिए


" ह्रीं "
का १०८ बार जप करके अनुष्ठान शुरू करने से अनुष्ठान सफल होता है । रोज़ एक माला इस मंत्र की करने से कोई बाधा नहीं आएगी और शरीर व स्थान की शुद्धि होगी ।

No comments:

Post a Comment