Search This Blog

Loading...

Monday, 25 July 2011

सुखी दांपत्य जीवन हेतु उपाय


1- यदि पति-पत्नी दोनों एक-दूसरे के मनो भावों को नहों सनाझते , छोटी - छोटी बातों से वैमनष्य एवं अशांति पैदा हो रही हों , तो प्रातः नित्यकर्म से निवृत होकर स्वच्छ वस्त्र धारण करके किसी मंदिर में जाकर शिवलिंग की पूजा करके निम्न मंत्र की पांच माला जप करें -
" ॐ नमः सम्भवाय च मयो भवाय च नमः शंकराय

मयस्कराय च नमः शिवाय च शिवतराय च !! "

२- दांपत्य जीवन में प्रेम की वृद्धि के लिए पति द्वारा भोजन करने के बाद उसके बचे भोजन में से एक निवाला पत्नी अवश्य खाएं , किन्तु अपने बचे भोजन में से उसे न खाने दें।
३- जो स्त्री शनिवार को चमेली के तेल का दीपक जलाकर 'श्री सुन्दरकाण्ड ' का पाठ करती है ,उसका दांपत्य जीवन सुखों से युक्त रहता है ।
४ - दांपत्य जीवन में मधुरता हेतु पति-पत्नी लगभग एक वजन का 'फिरोजा 'रत्न -जडित दो अंगूठी बनवाकर शुक्रवार के दिन विधिवत रत्न का प्राण-प्रतिष्ठा के उपांत धारण करें ।
-

No comments:

Post a Comment