Search This Blog

Loading...

Wednesday, 26 February 2014

शिव पूजा

सभी राशि के लोग शिव पूजा किसी भी विधि से कर सकते हैं, लेकिन यहां बताए जा रहे शिव पूजा के खास उपाय शिवरात्रि के अलावा हर शाम भी मंगलकारी व असरदार सिद्ध होंगे। अगली स्लाइड्स पर जानिए, शिवरात्रि की शाम व रात में अपने नाम के मुुताबिक किस राशि के व्यक्ति पर कौन से विशेष शिव पूजा उपाय व मंत्र से महालक्ष्मी की प्रसन्नता सुख-सौभाग्य बरसाएगी-
सबसे पहले हर राशि का व्यक्ति शिव पूजन से पहले काले तिल जल में मिलाकर स्नान करे। शिव पूजा में कनेर, मौलसिरी और बेलपत्र जरूर चढ़ावें। इसके अलावा जानिए कि किस राशि के व्यक्ति को किस पूजा सामग्री से शिव पूजा शुभ व मनचाहे फल देती है -
मेष – इस राशि के व्यक्ति जल में गुड़ मिलाकर शिव का अभिषेक करें। शक्कर या गुड़ की मीठी रोटी बनाकर शिव को भोग लगाएं। लाल चंदन व कनेर के फूल चढ़ावें। इस नाम राशि वाल शिव भक्तों के लिए यह शिव मंत्र मंगलकारी व लक्ष्मी कृपा बरसाने वाला होता है-
शिव मंत्र – ॐ पशुपतये नम:
वृष- इस राशि के लोगों के लिए दही से शिव का अभिषेक शुभ फल देता है। इसके अलावा चावल, सफेद चंदन, सफेद फूल और अक्षत यानी चावल चढ़ावें व इस शिव मंत्र का ध्यान करें -
शिव मंत्र – ॐ शर्वाय नम:
मिथुन – इस राशि का व्यक्ति गन्ने के रस से शिव अभिषेक करे। अन्य पूजा सामग्रियों में मूंग, दूर्वा और कुशा भी अर्पित करें। इस शिव मंत्र का स्मरण करें-
शिव मंत्र – ॐ विरूपाक्षाय नम:
कर्क – इस राशि के शिवभक्त घी से भगवान शिव का अभिषेक करें। साथ ही कच्चा दूध, सफेद आंकड़े का फूल और शंखपुष्पी भी चढ़ावें। यथाशक्ति इस शिव मंत्र का जप मन ही मन करें -
शिव मंत्र – ॐ महेश्वराय नम:
सिंह – सिंह राशि के व्यक्ति गुड़ के जल से शिव अभिषेक करें। वह गुड़ और चावल से बनी खीर का भोग शिव को लगाएं। गेहूं और मंदार के फूल भी चढ़ाएं और इस शिव मंत्र को बोलें -
शिव मंत्र – ॐ अघोराय नम:
कन्या – इस राशि के व्यक्ति गन्ने के रस से शिवलिंग का अभिषेक करें। शिव को भांग, दुर्वा व पान चढ़ाकर यह शिव मंत्र कम से कम 108 बार जरूर बोलें -
शिव मंत्र – ॐ त्र्यम्बकाय नम:
तुला – इस राशि के जातक इत्र या सुगंधित तेल से शिव का अभिषेक करें और दही, शहद और श्रीखंड का प्रसाद चढ़ाएं। सफेद फूल भी पूजा में शिव को अर्पित करें। यह शिव मंत्र भी स्मरण कर सौभाग्य की कामना करें -
शिव मंत्र – ॐ ईशानाय नम:
वृश्चिक – पंचामृत से शिव का अभिषेक वृश्चिक राशि के जातकों के लिए शीघ्र फल देने वाला माना जाता है। साथ ही लाल फूल भी शिव को जरुर चढ़ाएं व इस शिव मंत्र से लक्ष्मी कृपा की कामना करें-
शिव मंत्र – ॐ विश्वरूपिणे नम:
धनु – इस राशि के जातक दूध में हल्दी मिलाकर शिव का अभिषेक करे। भगवान को चने के आटे और मिश्री से मिठाई तैयार कर भोग लगाएं। पीले या गेंदे के फूल पूजा में अर्पित करें। इस नाम राशि वालों के लिए यह शिव मंत्र शुभ फल देता है -
शिव मंत्र – ॐ शूलपाणये नम:
मकर – नारियल के पानी से शिव का अभिषेक मकर राशि के जातकों को विशेष फल देता है। साथ ही उड़द की दाल से तैयार मिष्ठान्न का भगवान को भोग लगाएं। नीले कमल का फूल भी भगवान का चढ़ाएं। दरिद्रता दूर रखने के लिए इस नाम राशि वाले भक्त यह शिव मंत्र मन ही मन बोलें -
शिव मंत्र – ॐ भैरवाय नम:
कुंभ – इस राशि के व्यक्ति को तिल के तेल से अभिषेक करना चाहिए। उड़द से बनी मिठाई का भोग लगाएं और शमी के फूल से पूजा में अर्पित करें। यह शनि पीड़ा को भी कम करता है। यह शिव मंत्र बोलने से इस नाम राशि के भक्त खूब फलते-फूलते हैं -
शिव मंत्र – ॐ कपर्दिने नम:
मीन – इस राशि के जातक दूध में केशर मिलाकर शिव पर चढ़ाएं। भात और दही मिलाकर भोग लगाएं। पीली सरसों और नागकेसर से शिव का चढ़ाएं। यह शिव मंत्र इस नाम राशि वालों के लिए मंगलकारी होता है-
शिव मंत्र – ॐ सदाशिवाय नम:

1 comment: