Search This Blog

Saturday, 8 June 2013

राशि अनुसार

राशि अनुसार करें उपासना
आर्थिक समृद्घि, रुके कार्यों में प्रगति तथा न्यायिक सफलता के लिए विभिन्न राशि के जातक इन उपायों से लाभ प्राप्त कर सकते हैं.
मेष-वृश्चिक - शनिस्तवराज या शनि स्तोत्र का पाठ करें तथा हनुमानजी को चोला चढ़ाएं.
वृषभ-तुला - शनि चालीसा या अयोध्याकांड का पाठ करें तथा रात्रि में कनकधारा स्तोत्र का पठन करें.
मिथुन-कन्या - प्रातः शनि महाराज का तिल्ली के तेल से अभिषेक कर शनि कवच का पाठ करें तथा दिन में 12 बजे गणेश सहस्त्र नामावली का पाठ करें.
कर्क - शनि पूजन के बाद भिक्षुकों को इमरती व नमकीन का दान करें.
सिंह - महाकाल शनिमृत्युंजय स्तोत्र का पाठ करें तथा रोगियों को खाद्य सामग्री का वितरण करें.
धनु-मीन - शनि स्तोत्र व स्तवराज का संयुक्त पाठ तथा सुबह 11 बजे भगवान विष्णु का पंचोपचार पूजन करें.
मकर-कुंभ - शनि देव का पंचोपचार पूजन कर पुरुष सूक्त के पाठ द्वारा तिल के तेल से अभिषेक करें, शनि शतनामावली का पाठ करें, साधु-सन्यासी तथा संतों को अन्नदान दें, सायंकाल रूद्र सूक्त का पाठ अवश्य करें.

No comments:

Post a Comment