Search This Blog

Loading...

Saturday, 3 September 2011

राशि अनुसार के धार्मिक उपाय

राशि के अनुसार सफलता के धार्मिक उपाय

जीवन में सुख के साथ ही कभी-कभी दुःख के क्षणों का भी सभी को सामना करना पड़ता है। दुःख के क्षणों में यदि संबल बनाए रखा जाए तो उस पर पार पाया जा सकता है इसके अलावा कुछ ऐसी आध्यात्मिक क्रियाएं भी हैं जिनसे संकटों से निजात पाई जा सकती है। यह क्रियाएं विभिन्न राशियों पर अलग-अलग प्रकार से लागू होती हैं। यदि याचक अपनी राशि के अनुसार दिये गये सुझावों का पालन करें तो लाभ संभव है।

मेष राशि- मेष राशि के लोगों के आराध्य देव गणेश जी हैं। उन्हें उनका पूजन तो करना ही चाहिए साथ ही हर मंगलवार को हनुमान जी का प्रसाद चढ़ाएं और पूरा प्रसाद मंदिर में ही बांट दें। पहले हनुमान जी के पैर देखें फिर चेहरा। इसके अलावा वह बरकत के लिए मछलियों और पक्षियों को दाना दें तथा घर के सदस्यों से तनाव हो तो छेद वाले तीन तांबे के सिक्के बहते जल में प्रवाहित कर दें। उच्च शिक्षा के लिए लाल फूल का पौधा लगाएं। लाल रोली डाल कर सूर्य को जल चढ़ाएं। कोर्ट केस जीतने के लिए हरे रंग के कपड़े दान दें। इसके अलावा केसर वाला मीठा चावल कन्याओं को खिलाएं इससे तनाव दूर होगा।

वृषभ राशि- इस राशि के लोगों को चाहिए कि संपत्ति के विवाद को सुलझाने के लिए गणपति का पूजन करें। पढ़ाई में परेशानी आ रही हो तो गाय को हरा चारा खिलाएं। मंगलवार के दिन हनुमान जी के मंदिर में शुद्ध घी का दोमुखी दीया जलाएं और लाल चंदन की माला चढ़ाएं इससे दांपत्य की परेशानी दूर होगी। काम शुरू हो कर बीच में अधूरा रह जाता हो तो 21 गुरुवार को गरीब ब्राम्हण को भोजन कराएं। दफ्तर में तनाव हो तो पीपल को जल चढ़ाएं और कौए को मीठी रोटी खिलाएं। अपाहिज व्यक्ति को दान दें। आमदनी में दिक्कत हो तो केसर का टीका माथे पर लगाएं।

मिथुन राशि- इस राशि के लोग हरे रंग का रुमाल हमेशा अपने पास रखें। संपत्ति विवाद के हल के लिए बुजुर्गों को रात में दूध पीने के लिए दें। घर में कलह होती हो तो शुक्ल पक्ष की चतुर्थी को एक कन्या को भोजन कराएं और नवरात्र में दुर्गा सप्तशती का पाठ करें। बीमारी में पैसा खर्च हो रहा हो या दफ्तर में परेशानी आ रही हो तो किसी को मीठा व नमकीन दोनों खिलाएं। दफ्तर की परेशानियों से बचने के लिए 1 हल्दी की गांठ पानी में बहा दें और दूसरी दफ्तर में रख लें। गरीब व्यक्ति को काला कंबल दान दें, काम सुचारू चलेगा। शोहरत पाने के लिए पानी में फिटकरी डाल कर स्नान करें।

कर्क राशि- इस राशि के लोगों को चाहिए कि यदि उनकी किसी से भी बहस हो जाती हो, तो शिव मंदिर में लाल चंदन दान दें। बचत न होती हो तो मां की सेवा करें। सफलता के लिए रोज पूजा के बाद चंदन का टीका लगाएं। बुजुर्गों का कहा मानें और उनका सम्मान करें, स्वास्थ्य की परेशानियां कम होंगी। यदि विवाहित हैं तो जीवनसाथी की राय जरूर लें। इससे नुकसान की संभावनाएं कम हो जाती हैं। नए काम से पहले पितरों को याद करें। धन की इच्छा हो तो घर में लाल फूल की बेल लगाएं।

सिंह राशि- इस राशि के जातक नियमित सूर्य को अध्र्य दें और लाल चंदन का टीका लगाएं। सौहार्द्र के लिए हर बुधवार को गणेश जी को किशमिश चढ़ाएं। शुक्रवार को इत्र लगाएं इससे काम आसानी से बनेंगे। सात शुक्रवार कुएं में फिटकरी का टुकड़ा डालें इससे काम बन जाएगा। उच्च शिक्षा के लिए कुत्ते को रोटी खिलाएं और झूठ न बोलें। बहते पानी में सात बादाम और एक नारियल शुक्रवार के दिन प्रवाहित करें इससे बीमारी से छुटकारा मिलेगा। घर में तुलसी का पौधा लगाएं और रोज पानी डालें। सुबह बड़ों के पैर छुएं। मंगलवार को हनुमान जी को सिंदूर चढ़ाएं। लाल रंग का रुमाल अपने पास रखें इससे भाग्योदय होगा।

कन्या राशि- धन की हानि से बचने के लिए गले में दोमुखी रुद्राक्ष पहनें। सुख-शांति के लिए हर शनिवार को पीपल के पेड़ को जल चढ़ाएं। परेशानी से बचने के लिए घर में कुत्ता न पालें। उच्च शिक्षा के लिए 12 मुखी रुद्राक्ष पहनें। काम आसानी से होते रहें, इसके लिए घर में गंगाजल रखें। किसी से बेकार बहस हो जाती हो तो खाने के बाद सौंफ खाएं। छोटी उंगली में सोने में पन्ना पहनें। शिव पूजा करें इससे आर्थिक लाभ होगा। प्रतिष्ठा के लिए हरे रंग के कपड़े ज्यादा से ज्यादा पहनें। स्थायी सफलता के लिए तुलसी की माला पहनें।

तुला राशि- इस राशि के लोग बड़ों का सम्मान करें और 12 मुखी रुद्राक्ष पहनें। 200 ग्राम गुड़ की रेवड़ी और 200 ग्राम बताशे 21 मंगलवार तक बहते पानी में प्रवाहित करें इससे धन की समस्या दूर होगी। मंगलवार को हुनमान चालीसा का पाठ करें। काम में बार-बार दिक्कतें आ रही हों तो नियमित किसी मंदिर में भगवान के दर्शन करें। छोटे भाई-बहनों की मदद करें।

वृश्चिक राशि- इस राशि के लोग रदुव्र्यसन से जितना दूर रहेंगे उतनी ही तरक्की करेंगे। उच्च शिक्षा के लिए केले के पेड़ की पूजा करें और जल चढ़ाएं। अनिश्चितता की स्थिति हो तो हाथी को गन्ना खिलाएं।

धनु राशि- स्नान के बाद माथे पर लाल चंदन या रोली का टीका लगाएं। उच्च शिक्षा के लिए तांबे के बरतन में पानी भर कर अपने कमरे में रखें और सुबह उसे पौधों में डाल दें। परिवार में प्रेम के लिए नीम और अशोक के पेड़ लगवाएं। सुखमय दांपत्य जीवन के लिए तुलसी में जल डालें। दफ्तर में परेशानी आ रही हो तो महिलाएं बाएं हाथ और पुरुष दाएं हाथ में चांदी का कड़ा पहनें। बहस या विवाद से बचने के लिए चांदी के बरतन में रात में पानी भरें और सुबह उसे पी लें। शांति और समृद्धि के लिए घर में कचरा या गंदगी ना रहने दें।

मकर राशि- आर्थिक परेशानियों से बचने के लिए शुक्रवार को सफेद गाय को चावल में घी और चीनी डाल कर खिलाएं। परेशानी से बचने के लिए लाल सांड को मीठी रोटी खिलाएं। गुरुवार को विष्णु मंदिर में पीले फूल चढ़ाएं।

कुंभ राशि- ध्यान रखें कि आपके यहां से कोई भूखा न जाए। उच्च शिक्षा के लिए तुलसी के पत्ते खाएं। गणपति व हनुमान जी की पूजा करें। रविवार का व्रत रखें और बिना नमक का भोजन करें इससे दांपत्य सुख मिलेगा।

मीन राशि- उन्नति के लिए माथे पर चंदन लगाएं, बुजुर्गों को सम्मान करें। बीमारियों में पैसा खर्च हो हो तो गले में तांबे का सूय्र पहनें। मंदिर या प्याऊ बनाने के लिए पैसा दान करें। दांपत्य जीवन में तनाव चल रहा हो तो महिलाओं से न झगड़ें न ही उन्हें अपमानित करें। कभी भी सट्टे और लाटरी में पैसा न लगाएं। नौकरी में परेशानी आ रही हो तो पीपल के पेड़ की जड़ में पानी डालें और कभी भी झूठ न बोलें। आर्थिक परेशानी हो तो तेल में अपना चेहरा देख कर उस तेल को दान कर दें। दोमुखी या 12 मुखी रुद्राक्ष पहनें।

No comments:

Post a Comment