Search This Blog

Loading...

Wednesday, 14 September 2011

नक्षत्रो का....3

---आइये जाने नक्षत्रो का स्वभाव ,नक्षत्र भोजन ( क्या खाएं-क्या न खाएं ),क्या दान करें,नए वस्त्र धारण का प्रभाव ,क्या कार्य करें.(.भाग-3)---

26 --. हस्त :  कल्पनाशील, संवेदनशील, सुखी, समाधानी व सन्मार्गी व्यक्ति इस नक्षत्र में जन्म लेते हैं।
 इस नक्षत्र में ...यात्रा, वाहन खरीद दरी  से लाभ , मकान बनवाना, वस्त्र और सम्रद्धि के कार्य
नए वस्त्र धारण से ...कार्य में सफलता प्राप्त होती हे....
ध्यान रखें- ---अग्नि. द्वार., सजावट,..श्रंगार........
दान करें- ......गुड का....नमक का....
इस नक्षत्र में ------व्यापर, स्थिर कार्य , जमीन खुदाई और बीज रोपण सम्बन्धी कार्य को प्राथमिकता देवे; ....
नक्षत्र भोजन- इस नक्षत्र में घी , हरे मुंग का, सिंघाड़ा  का  सेवन लाभकारी होता हे....
इस नक्षत्र में निम्न वस्तु नहीं खानी चाहिए - आंवला, मक्खन, खीर, भरपेट स्वादिष्ट  भोजन.....
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
27. पुष्य :  सन्मर्गी, दानप्रिय, बुद्धिमान व दानी होते हैं। समाज में पहचान बनाते हैं।
 इस नक्षत्र में ...मकान बनवाना, वस्त्र और गहने बनवाना, राज्याभिषेक करवाना..जेसे कार्य करवाना और  सम्रद्धि के कार्य करवाना चाहिए...
नए वस्त्र धारण से ...इच्छाओ  की पूर्ति  और ..अर्थ लाभ की प्राप्ति होती हे.....
ध्यान रखें- ---जल,  द्वार., व्यापर, लकड़ी, चोखट, छत ...
दान करें- ........नमक का....
इस नक्षत्र में ------व्यापर, स्थिर कार्य , कल्याण कारक कार्यो  को प्राथमिकता देवे; ....
नक्षत्र भोजन- इस नक्षत्र में खीर, दूध ,मिश्र धन्य का  भोजन /  सेवन लाभकारी होता हे....
इस नक्षत्र में निम्न वस्तु नहीं खानी चाहिए -  भरपेट स्वादिष्ट  भोजन.., इलायची, कंदमूल, शक्करकंद, तुरई, ...

No comments:

Post a Comment