Search This Blog

Loading...

Thursday, 18 August 2011

देवी देवता और मंत्र

देवी देवता और मंत्र

भौतिक  सुख प्राप्ति के लिए
श्री विष्णु :  ओम नमो भगवते वासुदेवाय
                 ओम श्री विष्णुवे नमः
                  ओम नमो नारायणाय :

किसी  भी प्रकार के प्रकोप की शांति  और आत्मशांति के लिए
शिव  उपासना : ओम नमः शिवाय
                       ओम तत्पुरुषाय विद्महे महादेवाय धीमहि तन्नो रूद्र प्रचोदयात
                       ओम त्रयम्बकं यजामहे सुघंधिम पुष्टिवर्धनम उर्वारुक्मेव बंधनान मृत्योंम्रुक्षीय मामृतात
                       ओम नमो भगवते महारुद्राय
                        ओम काल रुद्राय नमः

अखूट लक्ष्मी प्राप्ति के लिए ..
श्री  लक्ष्मी उपासना : ओम श्रिम रिम श्रिम कमले कमलालये प्रसिद प्रसिद श्रिम रिम श्रिम महालक्ष्मेय नमः
                                 ओम श्रिम नमः
                                 ओम श्रिम श्रिये नमः

व्यापार वृद्धि के लिए .
ओम  श्रिम श्रिम श्रिम परमा सिद्धि श्रिम ओम

आरोग्य  प्राप्ति  :
 -  // माँ भयात  सर्वतो रक्ष श्रियम वर्धय सर्वदा
    शारीरारोग्य में देहि देवी देवी नमोस्तुते //
ओम  अच्युताय नमः  ओम अनंताय नमः  ओम गोविन्दाय नमः
ओम  रुद्राय नमः

शूकर-दन्त वशीकरण मन्त्र
“ॐ ह्रीं क्लीं श्रीं वाराह-दन्ताय भैरवाय नमः।”
विधि- ‘शूकर-दन्त’ को अपने सामने रखकर उक्त मन्त्र का होली, दीपावली, दशहरा आदि में १०८ बार जप करे। फिर इसका ताबीज बनाकर गले में पहन लें। ताबीज धारण करने वाले पर जादू-टोना, भूत-प्रेत का प्रभाव नहीं होगा। लोगों का वशीकरण होगा। मुकदमें में विजय प्राप्ति होगी। रोगी ठीक होने लगेगा। चिन्ताएँ दूर होंगी और शत्रु परास्त होंगे। व्यापार में वृद्धि होगी।


सफेद गुंजा की जड़ को घिस कर माथे पर तिलक लगाने से सभी लोग वशीभूत हो जाते हैं।

No comments:

Post a Comment