Search This Blog

Saturday, 6 August 2011

राशि के अनुसार मंत्र


अपनी राशि के अनुसार नियमित रूप से इन मंत्रों का जाप करें और सुख, समृद्धि, सेहत, वैभव, पराक्रम तथा सफलता के सुनहरे परचम लहराएं।

मेष : ऊँ ह्रीं श्रीं लक्ष्मीनारायण नम:।

वृषभ : ऊँ गौपालायै उत्तर ध्वजाय नम:।

मिथुन : ऊँ क्लीं कृष्णायै नम:।

कर्क : ऊँ हिरण्यगर्भायै अव्यक्त रूपिणे नम:।

सिंह : ऊँ क्लीं ब्रह्मणे जगदाधारायै नम:।


कन्या : ऊँ नमो प्रीं पीताम्बरायै नम:।

तुला : ऊँ तत्व निरंजनाय तारक रामायै नम:।

वृश्चिक : ऊँ नारायणाय सुरसिंहायै नम:।

धनु : ऊँ श्रीं देवकीकृष्णाय ऊर्ध्वषंतायै नम:।

मकर : ऊँ श्रीं वत्सलायै नम:।

कुंभ : श्रीं उपेन्द्रायै अच्युताय नम:।

मीन : ऊँ क्लीं उद्‍धृताय उद्धारिणे नम:।

कोई भी व्यक्ति अपनी राशि के अनुसार उपरोक्त मंत्रों का जाप करें तो शीघ्र सफलता मिलती है। मंत्र पाठ से व्यक्ति हर प्रकार के संकट से मुक्त रहता है। आर्थिक रूप से संपन्न हो जाता है। साथ ही जो आपके मार्ग में रोड़ा अटकाते हैं, वे भी इस जाप के समक्ष नतमस्तक हो जाते हैं।

No comments:

Post a Comment