Search This Blog

Loading...

Monday, 22 August 2011

राशि के अनुसार हो खान-पान



जन्म के समय ग्रहों और राशियों की स्थिति निश्चित होती है, जिसे हॉरोस्कोप कहते हैं। हॉरोस्कोप हमारा भाग्य तय करता है। जीवन में क्या होगा यह हॉरोस्कोप में पहले से तय होता है। हमारा खान-पान हमारी जीवनशैली पर गहरा प्रभाव डालता है।

हमारी सोच भी हमारे खान-पान से ही तय होती है। आपने सुना ही होगा, जैसा खाए अन्न वैसा होए मन। बारह राशियों के लोगों को अपनी अच्छी हैल्थ और प्रोस्पेरिटी के लिए क्या खाना चाहिए और क्या नहीं, इसके लिए कुछ जरूरी टिप्स—

मेष (एरीज)
आपको दोस्तों के साथ मौज-मस्ती करने का बेहद शौक है, इसलिए उनके साथ डाइन आउट भी करते हैं। जरूरी नहीं कि बाहर का खाना आपकी सेहत पर अच्छा असर डाले। आपका डाइजेस्टिव सिस्टम अच्छा है फिर भी अगर आप अपने खाने में रेशेदार फल-सब्जी, मसूर की दाल, गेहूं, गोंद की खाने लायक चीजें, जौ, कैर सांगरी, बीन्स, साबुदाना का प्रयोग बढ़ा दें। गन्ना, पान, पालक, मटन, नमक, तिल से थोड़ा परहेज रखें या इनकी मात्रा कम कर दें तो आपके जीवन में एक सकारात्मक परिवर्तन आएगा। अलसी, मटर, मूंग की दाल और चावल आपके लिए हैल्थ परेशानी तो बढ़ाएंगे ही, एनिमीज की श्रंखला भी लम्बी कर देंगे।

वृष (टॉरस)
आपको खाने में हाई क्वालिटी बारीक बासमती चावल का प्रयोग ज्यादा करना चाहिए। गुलकंद, गेहूं, पौधों से प्राप्त होने वाले फल एवं सब्जियों का ज्यादा यूज करना चाहिए। अगर आप पर लोन ज्यादा हो गया है या फिर शत्रु ज्यादा हो गए हैं तो आप उड़द की दाल, राजमा, जौ, सरसों से परहेज रखें। नमक, तिल, अनाज का दान करें जिससे प्रोस्पेरिटी बढ़ेगी।

मिथुन (जैमिनी)
प खाने-पीने के बेहद शौकीन हैं। सभी तरह का लजीज खाना काफी पसंद करते हैं। लेकिन अगर आप सोशल सर्किल में तनाव पसंद नहीं करते तो आपको गन्ना, पान, मटन, पालक जैसी चीजों से परहेज रखना होगा। साथ ही सभी प्रकार के अनाज ठंडे प्रदेशों में पैदा होने वाली सभी फल, सब्जियां, जल में पैदा होने वाली सब्जियां और सी फूड्स आपके लिए लाभकारी होंगे। आम, केला, चीकू, टमाटर, शिमला मिर्च, मतीरा, भिंडी, जौ, ज्वार का दान आपको सक्सेस दिलाएगा।

कर्क (कैंसर)
आपका व्यक्तित्व आकर्षक है उसे और आकर्षक बनाने के लिए खाने में बासमती चावल, केला, बथुआ, हरी पत्तेदार मेथी, हरा धनिया, पुदिना, पालक सभी रसीले फल, आलू, गाजर, प्याज, शलजम, अदरक, जमीकंद, तेजपत्ता व नारियल का उपयोग बढ़ा दें। लोन्स और शत्रु कम करने के लिए नमक, तिल, गेहूं, बाजरा, ज्वार, जौ का दान करें। सभी सी फूड्स से परहेज रखें।

सिंह (लियो)
चावल, दालें, गेहूं, जौ, ज्वार, बाजरा, दलिया, गुड़ आपके लिए लाभदायक हैं। खजूर, अंजीर, नारियल, आम, केला, अमरूद, अनार, चीकू, पपीता, टमाटर, भिंडी, शिमला मिर्च, मतीरा, खरबूजा जैसी चीजें आपके लिए परेशानी का सबब बन सकती हैं। आपको सी फूड्स से भी सावधान रहना होगा। हो सके तो इनसे परहेज रखें। ऐसा करने पर आपको अवश्य लाभ होगा।

कन्या (वर्गो)
आपका डाइजेस्टिव सिस्टम काफी नाजुक है। खान-पान में जरा सी भी लापरवाही आपको परेशान कर देती है। आपको जिन चीजों का खाना लाभदायक है वे हैं अलसी, मटर, बीन्स, गेहूं, मूंग की दाल,चावल, जौ,ज्वार आदि। कुछ चीजें ऐसी हैं जिन्हें खाना आपको पसंद है मगर अनजाने में आपकी टेंशन का कारण बन जाती हैं। वे हैं सभी प्रकार के सी फूड्स, पपीता, आम, अनार, गुलकंद, फूलगोभी। इनसे परहेज रखें तो बेहतर है। रेशेदार फल, सब्जी, मसूर की दाल, गेहूं, जौ, बाजरा का दान करने से आपको मन की शांति व लाभ मिलेगा।

तुला (लिब्रा)
उड़द की दाल, राजमा, जौ, गेहूं, सरसों का प्रयोग अधिक करने से आपका सैल्फ कॉन्फिडेंस बढ़ेगा और आपको दूसरों पर निर्भर नहीं रहना पड़ेगा। अगर आपको लगता है कि फाइनेंशियल स्ट्रैस बढ़ रहा है और कोई आपकी मदद नहीं कर रहा तो आप सभी प्रकार के सी फूड्स, ऑलिव ऑयल, कोकोनट ऑयल, किसी भी प्रकार के फिश ऑयल का प्रयोग कदापि न करें। बारीक रेशेदार फल, सब्जियां, सभी प्रकार के फूल, गेहूं, बारीक चावल, जौ का दान करें।

वृश्चिक (स्कॉर्पियो)
आप काफी सकारात्मक व्यक्ति हैं। एंथुजिआज्म आपका स्ट्रॉन्गेस्ट पॉइंट है। लेकिन जीवन में कभी अगर आप खुद को कमजोर महसूस करें तो गन्ना, पान, कटहल, नीबू, मतीरा, खरबूजा, पपीता, पालक, बथुआ, मटन का प्रयोग बढ़ा दें। मसूर, मैदा, गोंद, साबुदाना, कनेर, बींस, जौ का ज्यादा इस्तेमाल हैल्थ ईश्यूज भी बढ़ाएगा साथ ही शत्रु भी। चावल, केला, घास, सभी फल, आलू, प्याज, गाजर शलजम, अदरक, जमीकंद को दान करने से लाभ मिलेगा।

धनु (सैजिटेरियस)
आप खान-पान के मामले में काफी संयमित हैं। आप स्वास्थ्य का भी पूरा ध्यान रखते हैं। लेकिन फिर भी स्वयं की उन्नति के लिए आपको गेहूं, सभी प्रकार की दालें, चावल, जौ, ज्वार, बाजरा, नमक, तिल का प्रयोग ज्यादा करना चाहिए। रेशेदार फल, सब्जियां, सभी प्रकार के फूल, गेहूं, बारीक बासमती चावल व जौ का दान करने से रोगों तथा आर्थिक बोझ से मुक्ति मिलेगी। तेज मसाले, तेजपत्ता, नारियल, आलू, प्याज, गाजर, शलजम, जमीकन, केला का प्रयोग कम करें।

मकर (कैप्रिकॉर्न)
आपको अपनी पर्सनालिटी निखारने के लिए नारियल, आम, केला, चीकू, पपीता, अमरूद, अनार, पेड़ों पर लगने वाले फल-सब्जियां, बेलों पर लगने वाले फल-सब्जियां जैसे शिमला मिर्च, भिंडी, मतीरा, खरबूजा जैसी चीजें या वो जिसमें आयरन होता हो उन सभी खाने वाली चीजों का यूज ज्यादा कर देना चाहिए। सर्दी में पैदा होने वाली फल-सब्जियां, सभी सी-फूड्स से परहेज रखें व इनका इस्तेमाल कम करें। कोशिश करें कि नॉन-वेजिटेरियन डाइट आप कम से कम लें वो आपके लिए तकलीफदायक हो सकते है। तेज मसाले, गुड़ आपको परेशानी दे सकते है।

कुंभ (एक्वेरियस)
आप सभी प्रकार के सी फूड्स को दिल खोलकर एन्जॉय कर सकते हैं। अगर आप इनके शौकीन हैं तो ये आपकी पर्सनैलिटी भी इम्प्रूव करेंगे। अपनी फाइनेंशियल प्रॉब्लम कम करने के लिए चावल, केला, तेज पत्ता, नारियल का इस्तेमाल कम करें। मेंटल स्ट्रैस और टेंशन कम करने के लिए अलसी, मटर, मूंग की दाल का इस्तेमाल कम करें।

मीन (पाइसेस)
आपको अल्कोहल से दूर ही रहना चाहिए। यह सीधा आपके डाइजेस्टिव सिस्टम के साथ ही आपकी पसनैलिटी को भी हार्म करता है। सभी प्रकार के वेज या नॉनवेज, सी फूड्स तो आप खा सकते हैं मगर चिकन और मटन न खाएं। मैदा, गुड़, बेसन, आपको फिजिकल प्रॉब्लम दे सकते हैं। उड़द, राजमा, जौ, गेहूं का दान करें। इससे आपको लाभ मिलेगा। आप यूं भी हल्का खाना खाएं। इससे आपको लाभ होगा।

No comments:

Post a Comment