Search This Blog

Loading...

Monday, 1 August 2011

रुद्राक्ष धारण

आपकी ग्रह-राशि-नक्षत्र के  अनुसार रुद्राक्ष धारण करें


ग्रह  
राषि
नक्षत्र
लाभकारी रुद्राक्ष
मंगल  
मेष+वृश्चिक
मृगषिरा-चित्रा-धनिष्ठा
३ मुखी
शुक्र  
वृषभ+तुला
भरणी-पू॰फाल्गुनी-पू॰षाढ़ा
६ मुखी,१३ मुखी,१५ मुखी
बुध  
मिथुन+कन्या
आष्लेषा-ज्येष्ठा-रेवती
४ मुखी
चन्द्र  
कर्क
रोहिणी-हस्त-श्रवण
२ मुखी, गौरी-शंकर रुद्राक्ष
सूर्य   
सिंह
कृत्तिका-उ॰फाल्गुनी-उ॰षाढ़ा
 मुखी, १२ मुखी
गुरु  
धनु-मीन
पुनर्वसु-विषाखा-पू॰भाद्रपद
५ मुखी
शनि  
मकर-कुंभ
पुष्य-अनुराधा-उ॰भाद्रपद
७ मुखी, १४ मुखी
राहु  
-
आर्द्रा-स्वाति-षतभिषा
८ मुखी, १८ मुखी
केतु   
-
अष्विनी-मघा-मूल
९ मुखी,१७ मुखी
  

नवग्रह दोष निवारणार्थ
१० मुखी, २१ मुखी
विषेष : १० मुखी और ११ मुखी किसी एक ग्रह का प्रतिनिधित्व नहीं करते।बल्कि नवग्रहों के दोष निवारणार्थ प्रयोग मे लाय जाते हैं ।

No comments:

Post a Comment