Search This Blog

Loading...

Friday, 26 August 2011

दीपावली

शास्त्रों में दीपावली पर्व पर दीपक लगाने का विधान बताया गया है। वैसे तो इसके पिछे कई धारणाएं है, लेकिन सामान्यत: माना जाता है कि दीप प्रज्वलित करने से लक्ष्मीजी प्रसन्न होती है एवं उनका आगमन होता है।
ज्योतिष के सहयोग से यदि अपनी राशि के अनुसार दिपक लगाए जाएं तो मां लक्ष्मी की विशेष कृपा तो होगी साथ ही आपके राशि के देव भी प्रसन्न होंगे। जिससे आपके सारे काम पूरे होंगे और जीवन, धन एवं ऐश्वर्य से भर जाएगा।

मेष- मेष राशि पूर्व में उदय होने वाली राशि है। इस राशि के जातक पूर्व दिशा में दीपक को लाल वस्त्र पर रख कर जलाएं।

वृष- यह राशि शुक्र की राशि है। इस राशि के जातक शुक्र देव के लिए दक्षिण दिशा में सफेद वस्त्र पर दीपक लगाएं।

मिथुन- बुध ग्रह की इस राशि का उदय पश्चिम दिशा में होता है इसलिए आप पश्चिम दिशा में हरे वस्त्र पर दीपक लगाएं।

कर्क- कर्क राशि वाले अपनी राशि के अनुसार उत्तर दिशा में सफेद वस्त्र पर दीपक लगाएं।

सिंह- अग्नि तत्व की यह राशि अपने स्वामी के अनुसार पूर्व दिशा में उदित होती है इसलिए आप पूर्व दिशा में लाल वस्त्र पर दीपक लगाएं।
कन्या- यह राशि दक्षिण दिशा में उदय होती है इसलिए आप दक्षिण में हरे वस्त्र पर दीपक प्रज्वलित करें।

तुला- शुक्र की इस राशि का उदय पश्चिम दिशा में होता है इसलिए आपको तुला राशि के लिए सफेद वस्त्र पर दीपक प्रज्वलित करना चाहिए।

वृश्चिक- मंगल देव की कृपा प्राप्त करने के लिए आप उत्तर दिशा में लाल वस्त्र पर दीपक जलाएं करें।

धनु- बृहस्पति देव की इस राशि का स्थान पूर्व दिशा में है। धनु राशि के जातक पूर्व दिशा में पीले वस्त्र पर दीपक लगाएं तो निश्चित ही मां लक्ष्मी प्रसन्न होंगी।

मकर- मकर राशि के जातक दक्षिण दिशा में काले कपड़े पर दीपक प्रज्वलित करें।

कुंभ- कुंभ राशि का स्थान पश्चिम में होता है। इस राशि वालें व्यक्तियों को पश्चिम दिशा में राशि के स्वामी को दीप दर्शन करवाना चाहिए।

मीन- जल तत्व होने के कारण इस राशि का स्थान उत्तर दिशा में होता है इसलिए आप उत्तर दिशा में बृहस्पति देव के लिए दीपक लगाएं।

No comments:

Post a Comment