Search This Blog

Loading...

Wednesday, 10 August 2011

ग्रह शान्ति

ग्रह शान्ति के लिए दान-पुण्य की वस्तुऐं एवं मन्त्र
सूर्य
चन्द्र
भौम
बुध
गुरु
शुक्र
शनि
राहु
केतु
माणिक
मोती
मूंगा
पन्ना
पुखराज
हीरा
नीलम
गोमद
लहसुनियां
सुवर्ण
सुवर्ण
सुवर्ण
सुवर्ण
सुवर्ण
सुवर्ण
सुवर्ण
सुवर्ण
सुवर्ण
ताम्र
रजत
ताम्र
कांसी
कांसी
रजत
लोहा
सीसा
लोहा
गेहू
चावल
मसूर
मूंग
दालचने
चावल
उड़द
तिल
तिल
गुड़
मिसरी
गुड़
खांड
खांड
मिसरी
कुलथी
सरसों
सप्तधान्य
घी
दही
घी
घी
घी
दूध
तेल
तेल
तेल
रक्तवस्त्र
श्वेतवस्त्र
रक्तवस्त्र
हरावस्त्र
पीतवस्त्र
श्वेतवस्त्र
कृष्णवस्त्र
नीलवस्त्र
धूम्रवस्त्र
रक्तपुष्प
श्वेतपुष्प
रक्तकनेर
सर्वपुष्प
पीतपुष्प
श्वेतपुष्प
कृष्णपुष्प
कृष्णपुष्प
धूम्रपुष्प
केसर
शंख
केसर
हाथीदांत
हल्दी
सुगन्ध
कस्तूरी
खडग
नारियल
मूंगा
कपूर
कस्तूरी
कपूर
पुस्तक
दधि
कृष्ण गो
कम्बल
केवल
रक्त गौ
श्वेत बैल
रक्त बैल
शस्त्र
घोड़ा
श्वेत घोड़ा
भैंस
घोड़ा
बकरा
रक्त चन्दन
श्वेत चन्दन
रक्त चन्दन
फल
पीतफल
श्वेत चन्दन
उपानह
शर्प
शस्त्र
7000
11000
10000
9000
19000
16000
23000
18000
17000
ॐ ह्रां ह्रीं ह्रौं सः सूर्याय नमः
ॐ श्रां श्रीं श्रौं सः चन्द्राय नमः
ॐ क्रां क्रीं क्रौं सः भौमाय नमः
ॐ ब्रां ब्रीं ब्रौं सः बुधाय नमः
ॐ ग्रां ग्रीं ग्रौं सः गुरुवेः नमः
ॐ द्रां द्रीं द्रौं सः शुक्राय नमः
ॐ प्रां प्रीं प्रौं सः शनये नमः
ॐ भ्रां भ्रीं भ्रौं सः राहुवे   नमः
ॐ स्रां स्रीं स्रौं सः केतुवे   नमः
सू. उ.
संध्या
घटी 2
घटी 5
संध्या
सू. उ.
संध्या
रात्री
रात्री
अर्क
पलाश
खदिर
अपा मार्ग
अश्वत्थ
उदुम्बर
शमी
दुर्वा
कुशा

No comments:

Post a Comment