Search This Blog

Loading...

Friday, 15 July 2011

नौ-ग्रहों की शांति हेतु कुछ विशिस्ट उपाय *


सूर्य देव की शांति हेतु उपाय :
* मंत्र जाप : " ॐ ह्रां ह्रीं ह्रौं सः सूर्याय नमः " - जप संख्या २८०००

* अर्घ्य दें : नियमित रूप से सूर्य उदय के एक घंटे के अन्दर सूर्य देव को ढाई लीटर पानी में थोडा-सा रोली , अक्षत , केसर ,गुड एवं कुछेक लाल फूल मिलाकर जल दें ।
* टोटका : प्रत्येक रात्रि में भोजन इत्यादि करने के पश्चात एक कागज़ का टुकडा लेकर उसे जला दें, फिर उसे दूध डालकर बुझा दें । ऐसा लगातार तेंतालीस दिनों तक करें । इसका प्रभाव सूर्य देव की शान्ति में एक इंजेक्शन की तरह करता है ।

चंद्र देव की शान्ति हेतु उपाय :
* मंत्र जाप : " ॐ श्रां श्रीं श्रौं सः चन्द्रमसे नमः " - जप संख्या ४४०००
*टोटका : प्रत्येक रात्रि में सोने के लिए जाने से पहले अपने सिरहाने में पानी से भरा बर्तन रख कर सो जाएँ तथा उसे सुबह उठते ही कीकर के पेड़ के जड़ में ड़ाल दें ।

मंगल देव की शान्ति हेतु उपाय :


* मंत्र जाप : " ॐ क्राम क्रीम् क्रौम सः भौमाय नमः " - जप संख्या ४००००
*टोटका : नियमित रूप से दिन में रेवडी एवं बताशा को पानी में बहायें । साथ ही मीठा रोटी बनाकर उसे कुत्तों को खिलाएं ।

बुध देव के शान्ति हेतु उपाय :


* मंत्र जाप : " ॐ ब्राम ब्रीम ब्रौम सः बुधाय नमः " - जप संख्या ३६०००
* टोटका : छेद वाला सिक्का पानी में बहायें एवं स्टील का छल्ला छोटी उंगली में पहने ।



बृहस्पति देव की शांति हेतु उपाय :


* मंत्र जाप : " ॐ ग्राम ग्रीम ग्रौम सः गुरवे नमः " - जप संख्या ७६०००
* टोटका : प्रत्येक दिन स्नान करने के बाद अपने नाभि में केसर एवं चन्दन मिलाकर लगायें ।

शुक्र देव की शांति हेतु उपाय :

* मंत्र जाप : " ॐ द्राम द्रीम द्रौम सः शुक्राय नमः " - जप संख्या ६४०००
* टोटका : प्रत्येक दिन चींटी को चीनी दें एवं शुध्ध घी , दही एवं कपूर पूजा-स्थानों में चढाएं ।

शनि देव की शांति हेतु उपाय :


* मंत्र जाप : " ॐ प्राम प्रीम प्रौम सः शनये नमः " - जप संख्या ९२०००
* टोटका : प्रत्येक शनिवार को स्नान करने से पहले पूरे शरीर में सरसों का तेल लगाकर ही स्नान किया करें एवं संभव हो तो शनिवार को ही संध्या में हनुमान जी का पूजा अर्चना कर प्रसाद वितरण कर स्वयं भी प्रसाद ग्रहण कर लिया करें ।

राहू देव की शांति हेतु उपाय :

* मंत्र जाप : " ॐ भ्राम भ्रीम भ्रौम सः राहवे नमः " - जप संख्या ७२०००
* टोटका : प्रत्येक दिन सुबह में जौ को दूध से धोकर चलते हुए पानी में बहायें एवं संभव हो तो खोटे सिक्के को पानी में बहायें ।

केतु देव की शांति हेतु उपाय :

* मंत्र जाप : " ॐ स्त्राम स्त्रीम स्त्रौम सः केतवे नमः " - जप संख्या ६८०००
* टोटका : नियमित रूप से काले कुत्ते को रोटी में तेल एवं गुड लगाकर दिन के समय खिलाएं तथा संभव हो तो गणेश जी का पूजा अर्चना करते रहा करें ।

No comments:

Post a Comment