Search This Blog

Wednesday, 6 July 2011

चंद्रमा दोष निवारण के चमत्कारी उपाय!

क्या आपकी कुंडली चंद्रमा के दोष से पीड़ित हैं? तो आपके लिए है दो चमत्कारी प्रयोग जिसके करने के बाद आपकी मनोकामना होगी पूर्ण। जानिए चंद्रमा का वैदिक दान, मंत्र और व्रत।
प्रयोग-1
चन्द्र (वार- सोमवार)- मोती, चावल, चीनी, जल से भरा चांदी का कलश, सफ़ेद वस्त्र, दही, शंख, श्वेत पुष्प।
मंत्र:- ॐ श्रीं क्री चं चन्द्राय नम:
व्रत:-16 सोमवार का व्रत करें।
भोजन:- नमक रहित दूध, दही, चावल से बना पदार्थ ग्रहण करें।
प्रयोग-2
श्रीराम प्रसन्नता वा कृपा पाने का मन्त्र
“अरथ न धरम न काम रुचि, गति न चहउँ निरबान। जनम जनम रति राम पद यह बरदान न आन।।”
विधि-इस मन्त्र को यथाशक्ति अधिक-से-अधिक संख्या में 40 दिन तक जप करते रहें और प्रतिदिन प्रभु श्रीराम की प्रतिमा के सामने भी सात बार जप
अवश्य करें।
लाभ-जन्म-जन्मान्तर तक श्रीरामजी की पूजा का स्मरण रहता है और प्रभु श्रीराम प्रसन्न होते हैं।

No comments:

Post a Comment