Search This Blog

Loading...

Thursday, 21 July 2011

9 मसाले

भोजन और भोज्य पदार्थों द्वारा ग्रहों को भी अपने अनुकूल किया जा सकता है। इसी नवीन विषय पर आधारित है यह पुस्तक जिसमें आप अपनी ग्रह दशाओं के अनुसार भोजन का चयन कर सकते हैं और अपनी जन्मपत्री की दशाओं-महादशाओँ का उपचार भी कर सकते हैं।
प्राचीन मान्यताओं के अनुसार रसोईघर में नवग्रहों अर्थात 9 ग्रहों का वास होता है जिसका मुख्य आधार हैं मसाले जिनमें मुख्य रूप से 9 प्रकार के मसालों को मान्यता दी गई है जो अपने गुणों, स्वाद व रंगों के आधार पर भिन्न-भिन्न ग्रहों का प्रतिनिधित्व करते हैं। इसीलिये इन मामलों को रसोईघर में एक साथ इकट्ठा अथवा पास-पास रखने का प्रावधान है चाहे वह मसालदानी के रूप में हो अथवा अलग-अलग प्रकार से डिब्बों आदि में एक साथ एक स्थान पर रखे जाएं।

आइए जानें कि ये 9 मसाले कौन से है और ये किस प्रकार ग्रहों का प्रतिनिधित्व करते हैं व इनके पीछे छिपी वैज्ञानिकता क्या है ?
1. नमक------------------------------- (पिसा हुआ) सूर्य
2. लाल मिर्च------------------------=== (पिसी हुई) मंगल
3. हल्दी --------------------------------(पिसी हुई ) वृहस्पति
4. जीरा------------------------------- (साबुत या पिसा हुआ) राहु-केतु
5. धनिया------------------------------ (पिसा हुआ) बुध
6. काली मिर्च -=------------------------(साबुत या पाउडर) शनि
7. अमचूर------------------------------ (पिसा हुआ) केतु
8. गर्म मसाला------------------------- (पिसा हुआ) राहु
9. मेथी--------------------------------- मंगल

No comments:

Post a Comment