Search This Blog

Wednesday, 17 July 2013

गुरु का फल शुभ कम मिलता

ज्ञात हुआ है कि गुरु का फल शुभ कम मिलता है। पुराणों में उच्च गुरु के अशुभ फल वर्णित है-
जन्म लग्ने गुरुश्चैव रामचंद्रो वनेगतः
तृतीय बलि पाताले, चतुर्थे हरिश्चंद्र,
षष्टे द्रोपदी चीरहरण च हंति रावणष्ट मे,
दशमे दुर्योधन हंति द्वादशे पांडु वनागतम्‌।

No comments:

Post a Comment