Search This Blog

Loading...

Monday, 10 September 2012

ग्रह एवं नक्षत्र

किसी भी ग्रह एवं नक्षत्र से उत्पन्न पीड़ा या दोष निवारण के लिए अधिकांश ज्योतिषी ग्रह संबंधी रत्न पहनने की सलाह देते हैं। रत्न महंगे होने के कारण जन सामान्य के लिए सहज सुलभ हों, यह जरू री नहीं है। इसीलिए हमारे ऋषियों ने विशिष्ट रत्नों की बजाए, ग्रह संबंधी वनस्पति या ग्रह-नक्षत्र के आराघ्य वृक्ष को लगाने और उन्हें पूजने की सलाह दी। सारांशत: आप यह जान लें कि ग्रह-नक्षत्र पीड़ा निवारण के लिए यदि आप अपने जन्म नक्षत्र का वृक्ष लगाते हैं, तो इससे आपकी पीड़ा का निवारण होगा।

No comments:

Post a Comment