Search This Blog

Loading...

Thursday, 2 February 2012

ग्रह पीडा

राहु ग्रह पीडा निवारण यन्त्र


इस यन्त्र को रविवार को भोजपत्र पर अष्टगंध की स्याही और अनार की कलम द्वारा लिखें तथा उसी दिन रवि का होरा मे उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र में धारण करें तो राहु द्वारा जनित सभी प्रकार की पीडाओं का निवारण होता है।

केतु ग्रह पीडा निवारण यन्त्र


शुक्ल पक्ष के रविवार के दिन इस यन्त्र को अष्टगंध की स्याही द्वारा अनार की कलम से लिखें तथा रविवार को पुष्य नक्षत्र तथा सूर्य की होरा में धारण करें तो केतु के कोप के कारण होने वाले सभी कष्टों से छुटकारा पाया जा सकता है।

No comments:

Post a Comment