Search This Blog

Loading...

Thursday, 16 February 2012

शनि साढ़ेसाती उपाय

बारह राशियों के लिए शनि साढ़ेसाती उपाय
clip
शनि की साढ़ेसाती व्यक्ति के मानसिक कष्टों में वृद्धि कर, व्यक्ति से सामान्य से अधिक मेहनत कराती है। इस अवधि में व्यक्ति को अपने कार्यों को पूर्ण करने के लिये बार-बार प्रयास करने पड़ सकते हैं। मेहनत के अनुरूप सफलता न मिलने के कारण अक्सर व्यक्ति के स्वभाव में निराशा का भाव आने की संभावनाएं बनती हैं।
शनि की साढ़ेसाती एक ओर जहां व्यक्ति को उसके कार्यक्षेत्र में कार्यों में सफलता दिलाकर विकास व सफलता के नए मार्ग खोलती हैं। वहीं इस अवधि में व्यक्ति के व्यक्तिगत जीवन यानी परिवारिक व दाम्पत्य जीवन में परेशानियां भी देती है। शनि की साढ़ेसाती में व्यक्ति के धैर्य व संघर्ष क्षमता में वृद्धि होती है। उसकी सहनशीलता भी पहले की तुलना में काफी बढ़ जाती है।
इस अवधि की बाधाओं में कमी करने के लिए व्यक्ति को शनि के उपाय करने से लाभ प्राप्त हो सकता हे। आइए, शनि की साढ़ेसाती से निबटने के उपाय की जानकारी लेते हैं। 
मेष राशि के लिए उपाय-
1.  शनिवार को हनुमान मंदिर में पूजा उपासना कर तथा प्रसाद चढ़ाएं।
2. शनि ग्रह से संबंधित वस्तुओं को सात शनिवार दान करें।
3. महामृत्युंजय मंत्र का प्रतिदिन कम से कम एक माला या अधिक का जाप करना।
4. पारद शिवलिंग के प्रतिदिन दर्शन करें।
5. शनिवार को सरसों के तेल में अपनी छाया देख कर दान करना चाहिए।
6. जटा नारियल, बादाम, काले जूए अथवा काली छतरी का दान करें।
7. मध्यमा अंगुली में काले घोड़े की नाल का छल्ला धारण करें।
वृषभ राशि के लिए उपाय-
1. लोहे अथवा चांदी की अंगूठी में मध्यमा अंगुली में नीलम रत्न धारण करें।
2. शनि स्तोत्र का जाप करें।
3. पीपल के नीचे शनिवार को तेल का दीपक जलाएं।
4. शनिवार को दैनिक उपयोग की वस्तुओं में शनि ग्रह से संबंधित वस्तुओं का अधिक प्रयोग करना चाहिए।
5. घर के मुख्य द्वार पर काले घोड़े की नाल अंदर की ओर लगाएं।
6. घर में पूजा स्थान में पारद शिवलिंग रखें तथा उसके सामने प्रतिदिन महामृत्युंजय मंत्र का जाप करें।
7. शनिवार को शनि ग्रह से संबंधित वस्तुएं न खरीदें।
मिथुन राशि के लिए उपाय-
1. शनिवार को मध्यमा अंगुली में नीलम अथवा उसके उपरत्न फिरोजा चांदी में धारण करें।
2. घर के द्वार के पास काले रंग के पत्थर की शिला स्थापित करें।
3. स्वास्तिक अथवा अन्य मांगलिक चिन्ह घर के मुख्य द्वार पर लगाएं।
4. काले कुत्ते को मीटी रोटी शनिवार को खिलाएं।
5. घर में शनिवार को नीले रंग की चादरों का प्रयोग करें।
6. शनिवार को कच्चा सरसों का तेल कच्ची जमीन पर गिराएं।
7. साढ़ेसाती की अवधि में शनिवार को सफेद वस्त्र धारण करने से बचना चाहिए।
कर्क राशि के लिए उपाय-
1. शनि ग्रह से संबंधित वस्तुओं का नियमित रूप से सात शनिवार दान करें।
2. शनि स्तोत्र का प्रतिदिन श्रद्धापूर्वक जाप करें।
3. महामृत्युंजय मंत्र का यथाशक्ति प्रतिदिन जप करें।
4. काले घोड़े की नाल की अंगूठी शनिवार को मध्यमा अंगुली में धारण करें।
5. शनि मंदिर में सरसों के तेल का दीपक जलाएं।
6. प्रत्येक शनिवार को आम के अचार सहित एक-एक रोटी ग्यारह भिखारियों को दान करें।
7. शनिवार को व्रत करें।
सिंह राशि के लिए उपाय-
1. व्यक्ति को शनि ग्रह के मंत्र का प्रतिदिन जाप करना चाहिए।
2. शनि ग्रह से संबंधित वस्तुओं के नियमित रूप से लगातार सात शनिवार दान करना चाहिए।
3. व्यक्ति को मध्यमा उंगली में काले घोड़े की नाल का छल्ला धारण करने से शनि के कष्टों में राहत प्राप्त होती है।
4. व्यक्ति को 108 शनि छाया यंत्रों का जल प्रवाह करना चाहिए।
5. पारद शिवलिंग के सामने महामृत्युंजय मंत्र का प्रतिदिन 108 बार जप करना चाहिए।
कन्या राशि के लिए उपाय-
1. प्रतिदिन शनि ग्रह के मंत्र का जाप करें।
2. शनि ग्रह से संबंधित सामग्री का सात शनिवार लगातार दान करें।
3. घर में ग्रह पीड़ा निवारक शनि यंत्र लगाकर शनि स्तोत्र का जाप करें।
4. नारियल अथवा बादाम का शनिवार को जल प्रवाह करें।
5. शनि छाया यंत्रों के प्रयोग करने से भी लाभ प्राप्त हो सकते है।
तुला राशि के लिए उपाय-
1. शनिवार को साबुत उड़द किसी भिखारी को दान करें।
2. घर से बाहर काले कुत्ते को रोटी डालें।
3. शनि छाया यंत्रों का जल प्रवाह करें।
4. नीलम अथवा उसके उपरत्नों की अंगूठी धारण करें।
5. शनिवार को सरसों के तेल का दान करें।
6. पारद शिवलिंग की नियमित रुप से पूजा करें।
वृश्चिक राशि के लिए उपाय-
1. व्यक्ति को ग्रह पीड़ा निवारक शनि यंत्र घर में लगाकर उसके सामने शनि के तांत्रिक मंत्र का प्रतिदिन जाप करना चाहिए।
2. काले तिल कीडि़यों को डालें।
3. तांबे का सिक्का बहते जल में प्रवाह करें।
4. नारियल अपने सिर से उतार कर जल प्रवाह करें।
5. हनुमान जी की निरंतर उपासना करनी चाहिए।
6. पारद शिवलिंग के सामने महामृत्युंजय मंत्र का कम से कम 108 बार प्रतिदिन जाप करें।
धनु राशि के लिए उपाय-
1. व्यक्ति को शनिवार का व्रत रखने से लाभ प्राप्त होता है।
2. साबुत उड़द शनिवार को दान करें।
3. 108 शनि छाया यंत्रों का जल प्रवाह करें।
4. महामृत्युंजय मंत्र का जाप शिवलिंग के सामने एक माला प्रतिदिन करें।
5. शनिवार के दिन शनि ग्रह से संबंधित वस्तुएं घर में खरीद कर न लाएं।
मकर राशि के लिए उपाय-
1. शनि ग्रह मंत्र का जप प्रतिदिन करें।
2. हनुमान जी की निरंतर उपासना करें।
3. शनिवार के दिन शराब व तामसिक पदार्थों का सेवन न करें।
4. घर में शनि यंत्र लगाएं तथा इसके सामने शनि मंत्र का जाप करें।
5. इस अवधि में व्यक्ति को प्रतिदिन पीपल के पेड़ पर जल चढ़ाना चाहिए।
कुम्भ राशि के लिए उपाय-
1. शनिवार को नीले वस्त्रों का प्रयोग अधिक से अधिक करना चाहिए।
2. नीलम या इसके उपरत्नों को अंगूठी में धारण करें।
3. शनि ग्रह से संबंधित वस्त्रों का शनिवार को दान करें।
4. ग्रह पीड़ा निवारक शनि यंत्र घर में लगाकर उसके सामने शनि स्तोत्र का जाप करें।
मीन राशि के लिए उपाय -
1. व्यक्ति प्रतिदिन शनि ग्रह के तांत्रिक मंत्र का पाठ प्रतिदिन करें।
2. घर से बाहर काले कुत्ते को रोटी डालें।
3. महामृत्युंजय मंत्र का प्रतिदिन जाप करें।
4. प्रतिदिन शिवलिंग की पूजा करें।
 

No comments:

Post a Comment