Search This Blog

Loading...

Tuesday, 18 October 2011

ग्रह की योग द्रिष्टि

पीडित ग्रह की योग द्रिष्टि

सभी ग्रह अपने से आठवें भाव मे बैठे ग्रहों को पीडित करते है पीडित ग्रह सहायता के लिये अपने से पांचवें में बैठे ग्रह की ओर देखते है इस देखने की क्रिया को योगद्रिष्ट की क्रिया से जाना जाता है।
पीडित करने वाला ग्रह जिस भाव में बैठा है पीडित होने वाला ग्रह जिस भाव में बैठा है योगद्रिष्टि द्वारा द्रश्य ग्रह जिस भाव में बैठा है
1 8 12
2 9 1
3 10 2
4 11 3
5 12 4
6 1 5
7 2 6
8 3 7
9 4 8
10 5 9
11 6 10
12 7 11
सभी ग्रह अपने से आठवें भाव मे बैठे ग्रहों को पीडित करते है पीडित ग्रह सहायता के लिये अपने से पांचवें में बैठे ग्रह की ओर देखते है इस देखने की क्रिया को योगद्रिष्ट की क्रिया से जाना जाता है।
पीडित करने वाला ग्रह जिस भाव में बैठा है पीडित होने वाला ग्रह जिस भाव में बैठा है योगद्रिष्टि द्वारा द्रश्य ग्रह जिस भाव में बैठा है
1 8 12
2 9 1
3 10 2
4 11 3
5 12 4
6 1 5
7 2 6
8 3 7
9 4 8
10 5 9
11 6 10
12 7 11

No comments:

Post a Comment