Search This Blog

Monday, 11 July 2011

स्वाइन फ्लू

पान में नीम-तुलसी खाएं और स्वाइन फ्लू भगाएंस्वाइन फ्लू का डर हर किसी को सता रहा है। लोग इससे बचने के लिए डॉक्टरों से सलाह कर रहे हैं लेकिन अभी तक इसका टीका उपलब्ध नहीं है। एलोपैथी में भले ही इससे बचाव का रास्ता नहीं मिला है लेकिन भारत की प्राकृतिक चिकित्सा पद्धति (नैचरोपैथी) और आयुर्वेद के डॉक्टर दावा कर रहे हैं कि मामूली उपाय से स्वाइन फ्लू से बचा जा सकता है।प्राकृतिक चिकित्सा केंद्र बस्सी (जयपुर) के सीएमओ डॉ. एकलव्य बोहरा के अनुसार स्वाइन फ्लू से बचने के लिए पांच दिन तक सुबह खाली पेट एक पान के पत्ते में चूना लगाकर उसमें 5 नीम पत्ती व 5 तुलसी पत्ती डालकर खा लें।
पान थूकना नहीं है। पांच दिन तक यह उपचार लेने से स्वाइन फ्लू नहीं होगा। स्वाइन फ्लू की चपेट में आए व्यक्ति को दिन में दो बार नीम का धुआं दें तथा गिलोय सत्व एक चम्मच, 10 तुलसी के पत्ते उबालकर दिन में दो बार दें।
डॉ. बोहरा के अनुसार उक्त उपचार लेने से स्वाइन फ्लू होने के आसार नहीं के बराबर हैं। शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ने से आसानी से वायरस का प्रभाव नहीं होगा और रोगों से लड़ने की शक्ति में भी बढ़ोतरी होगी।


 FOR INFORMATION

No comments:

Post a Comment